View Picture Joke

  • न जाने कैसी नज़र लगी है ज़माने की
    अब वजह नहीं मिलती मुस्कुराने की


Leave a Reply



Related

ग़ज़ल सुना के

ङरे क्यूं मेरा कातिल