in

Judai Shayari in Hindi 140 | Unclejokes

वजूद मेरा खोने लगा गम का साया भी जुदा होने लगा…….

वो गया है भर मुझमें इस कदर की जैसे कोई अपना होने लगा है……

– Meera

खुदा करे किसी को मोहब्बत मे जुदाई न मिले..!!

और जो मुझे याद न करे उसे ठंड मे रजाई न मिले..!!

देखते है हमदोनों कैसे जुदा हो पाएंगे

तुम मुक्क़द्दर का लिखा मानते हो हम दुआ आजमाएँगे

What do you think?

129 Points
Upvote Downvote

Written by bvbt3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bewafa Shayari Feature Image

60+ बेवफा शायरी (धोखा शायरी) | Unclejokes

Paheliyan Hindi Feature Image

Paheliyan In Hindi With Answer – पहेली और उत्तर | Unclejokes