in

कतरा कतरा

कतरा – कतरा भी दिया वतन के वास्ते ,

एक बूँद तक ना बचाई इस तन के वास्ते ,

यूं तो मरते है लाखो लोग हर रोज़ ,

पर मरना तो वो है जो जान जाये वतन के वास्ते …

What do you think?

129 Points
Upvote Downvote

Written by Taureano Ent

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भरोसा ना करना