in

भरोसे टूटे

भरोसे टूटे

अाज तक बहुत भरोसे टूटे
मगर भरोसे की अादत नहीं छूटी..

What do you think?

129 Points
Upvote Downvote

Written by Taureano Ent

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

नफरत का यकीन

नफरत का यकीन

हर रोज चुपके से

हर रोज चुपके से