किस्मत शायरी - नसीब शायरी - मुकद्दर शायरी - तकदीर शायरी - Naseeb Shayari - Kismat Shayari

39
  • Posted on 25/10/2017
    Username Admin

    क्यूं हथेली की लकीरों से हैं आगे उंगलियां
    रब ने भी किस्मत से आगे मेहनत रखी...

  • Username Admin

    See Also :- Pati Patni Jokes - Part 1

  • Posted on 03/11/2017
    Username Admin

    *** किस्मत पर शायरी ***

    आपको याद करना मेरी आदत बन गई है,
    आपका खयाल रखना मेरी फितरत बन गई है,
    आपसे मिलना ये मेरी चाहत बन गई है,
    आपको प्यार करना मेरी किस्मत बन गई है।

  • Posted on 09/11/2017

    मैने कहा खुदा से

    मैने कहा खुदा से,
    क्या खूब दोस्त मिले है...
    क्या खूब मैनें, किस्मत पाई है,

    खुदा ने कहा हंसकर,
    "संभाल कर रख पगले,
    ये मेरी पसंद है जो तेरे हिस्से में आई है...!!!



  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    *** किस्मत पर शायरी ***

    जिसके लफ़्जों में हमे अपना अक्स मिलता है... बङे नसीब से ऐसा कोई शख़्स मिलता है...

  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    मिलना बिछङना सब किस्मत का खेल है...
    कभी नफरत तो कभी दिलों का मेल है...
    बिक जाता है हर रिश्ता दुनिया में...
    सिर्फ दोस्ती ही यहॉ नॉट फार सेल है