दौलत शायरी - Daulat Shayari

9
  • Posted on 15/04/2018

    जिंदा हूँ मत

    ।। जय श्रीकृष्ण ।।
    .
    जिंदा हूँ मत जियो यार,
    जीवन की डगर सुहानी है।
    धन दौलत कुछ छण के राही,
    माया बस आनी जानी है।
    प्रेम दया जिस तन धारा,
    बनी उसकी अमर कहानी है।
    सतगुरु दर्शन सोम कहें,
    राधा हर युग में कृष्ण दीवानी है।
    .
    शुभप्रभात



  • Username Admin

    See Also :- Top 7 Ayurvedic Herbs For Liver Detox and Repair

  • Posted on 11/05/2018

    नशा दौलत का

    *** दौलत शायरी ***

    नशा दौलत का हो या फिर शोहरात का, चूर कर देता हैं....!!
    मगर नशा हो अगर मोहब्बत का तो मजबूर कर देता हैं....!!
    - Siya



  • Posted on 11/05/2018

    दौलत जब मिली

    दौलत जब मिली इंसान को नशा ग़ुरूर का छा गया !
    हालात जब मुफलिस हुए देखिए ख़ुदा याद आ गया !!
    - DrMohd Saeed Khan



  • Posted on 17/05/2018

    दिल तो आज भी

    *** दौलत शायरी ***

    साहिब दिल तो आज भी सस्ते हैं...
    दौलत तो 'जिस्मों' पे खर्च होती है...
    - Sonia



  • Posted on 17/05/2018

    तकब्बुर चाहे

    तकब्बुर चाहे, दौलत का हो, ताक़त का हो,
    रुतबे का हो, हैसियत का हो,
    हुस्न का हो, या तक़वा का ही क्यों न हो,
    इंसान को रुस्वा कर के ही छोड़ता है....
    - Mukesh