in

Mehboob Shayari In Hindi – महबूब शायरी हिंदी में | Unclejokes

लापरवाह महबूब

एक महबूब लापरवाह सा,

एक मोहब्बत बेपनाह सी
दोनों काफी हैं..
सुकून बर्बाद करने को

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

लिखने के लिए

लिखने के लिए कौम के दु:ख दर्द बहुत हैं
अब शेर में महबूब के नखरे नहीं चलते
– शकील जमाली

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

दोस्तों के बीच में हम फिर तमाशा बन गये

अौर हमारे सारे अरमानों का कीमा हो गया

अपनी महबूबा से मिलवाके उसे पछताये हम

तीन दिन के बाद लङने का वलीमा हो गया

– Popular Meeruthi

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

उर्दू जैसे हैं महबूब मेरे,

अच्छे तो लगते हैं

पर समझ में नहीं आते…

– Reema Sharma

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

गर नशा इश्क़ का हो तो शराब का क्या काम

मंजिल महबूब का घर हो दरगाह का क्या काम

– Shanaya

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

What do you think?

492 points
Upvote Downvote

Written by bvbt3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pyar Se Nafrat Shayari Feature Image

Pyar Se Nafrat Shayari In Hindi – प्यार से नफरत शयरी | Unclejokes

Mulakat Shayari Feature Image

Mulakat Shayari In Hindi – मुलाकात शायरी हिंदी में | Unclejokes