Nazar Shayari In Hindi - नज़र शायरी

48
  • Posted on 27/10/2017
    Username Admin

    फिक्र नही, लोगों में निन्दा हो तो हो
    बंदा अपनी नज़र में शर्मिन्दा न हो

  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 3

  • Posted on 07/11/2017
    Username Admin

    *** nazar shayari ***

    क्या फर्क है दोस्ती आैर मोहब्बत में
    रहते दोनाों दिल में हैं लेकिन फरक बस इतना है
    बरसों बाद मिलने पर मोहब्बत नज़र चुरा लोती है आैर
    दोस्ती गले लगा लेती है

  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    कभी-कभी तेरी लौ सी उभरती है मुझमें...
    अभी तू सारे का सारा नज़र नहीं अाता...

  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    *** nazar shayari ***

    ज़िन्दगी अासान नहीं होती इसे आसान बनाना पङता है...
    कुछ अंदाज़ से कुछ नज़र अंदाज़ से

  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    रिश्ते कभी कुदरती मौत नहीं मरते,
    इनको हमेशा इंसान ही कल्त करता है,
    कभी नफ़रत से, कभी नज़र अंदाज़ी से,
    तो कभी ग़लतफहमी से...