Men Women Jokes

465
  • Posted on 24/06/2018

    Local Anesthesia

    *Women women women*🤷‍♀
    Meanwhile in an upscale hospital in South Delhi - On the OT table
    Surgeon : We are going to give you "Local anesthesia" now.
    Lady: Why Local?
    Branded Nahi Hai Kya? 😂



  • Username Admin

    See Also :- Pappu Papa Jokes In Hindi

  • Posted on 29/12/2017

    तलाक चाहिये

    *** Men Women Jokes ***

    पति :- मुझे अपनी बीवी से तलाक चाहिये वो बर्तन फेंक के मारती है ?

    जज :- अभी से मार रही है या पहले से ?

    पति :- पहले से ?

    जज :- तो इतने साल बाद तलाक क्यों ?

    पति :- क्यों कि अब उसका निशाना पक्का हो गया है ??



  • Posted on 11/10/2017

    इतनी खूबसूरत जिंदगी

    ??..??..??
    पति ने पत्नी को मेसेज भेजा-
    ‘मेरी जिंदगी इतनी प्यारी, इतनी खूबसूरत बनाने के लिए
    तुम्हारा शुक्रिया। मैं आज जो भी हूं, सिर्फ तुम्हारी वजह से हूं।
    तुम मेरे जीवन में एक फरिश्ता बनकर आई हो और
    तुमने ही मुझे जीने का मकसद दिया है। लव यू …’

    पत्नी ने रिप्लाई किया-
    ‘मार लिया चौथा पैग??? आ जाओ घर कुछ नही कहूँगी। :
    “पति – बाहर खड़ा हूँ , गेट खोल दे “
    ??????



  • Posted on 29/09/2017

    खिचड़ी या पुलाव

    *** Men Women Jokes ***

    Wife: खिचड़ी बनाऊं या पुलाव ???

    Husband: तू पहले बना ले....
    फिर नाम रखेंगें....



  • Posted on 15/08/2017

    संतोष करना-औरत के लिए असम्भव है

    एक बड़े शहर में ” Get Husband ” नामक एक स्टोर खुला। यह 6 मंजिला स्टोर था और हर मंजिल पर हसबेंड पसंद किया जा सकता था। पहली मंजिल से आगे बढ़ते जाने पर और बढ़िया हसबेंड की गारंटी थी। हर मंजिल पर लिखा था कि वहाँ किन विशेषताओं वाले आदमी मिलेंगे। एक महिला हसबेंड पसंद करने उस स्टोर में गयी। पहली मंजिल— इन पुरुषों के पास नौकरी है। महिला आगे बढ़ गयी और दूसरी मंजिल पर गयी। दूसरी मंजिल— इन पुरुषों के पास नौकरी भी है और ये बच्चों को भी प्यार करते हैं। महिला और आगे बढ़ी। तीसरी मंजिल— इन पुरुषों के पास नौकरी है। ये बच्चों को प्यार भी करते हैं और बहुत खूबसूरत भी हैं। “वाह”….महिला ने सोचा लेकिन वह और आगे बढ़ी। चौथी मंजिल— इन पुरुषों के पास नौकरी है। ये बच्चों को प्यार करते हैं। बहुत खूबसूरत भी हैं और ये घरेलू कामों में हाँथ भी बंटाते हैं। ” वाह, और मुझे क्या चाहिए? ” उसने सोचा लेकिन वह और आगे बढ़ी। पांचवीं मंजिल— इन पुरुषों के पास नौकरी है। ये बच्चों को प्यार करते हैं। बहुत खूबसूरत हैं। घरेलू कामों में हाँथ भी बंटाते हैं और बहुत रोमांटिक मिजाज के भी हैं। महिला वहाँ बहुत खुश हुई। थोड़ा रुकी लेकिन फिर आगे बढ़ गई और छठवीं मंजिल पर पहुंची। छठवीं मंजिल पर लिखा था— आप इस छठवीं मंजिल की विजिटर नंबर 31,456,012 हैं। इस मंजिल पर कोई पुरुष नहीं है। इस मंजिल पर आप अकेली हैं जो इस बात का सबूत है कि संतोष करना औरत के लिए असम्भव है। ( हसबेंड स्टोर में शापिंग के लिए आने का बहुत बहुत धन्यवाद )