View Picture Joke

  • हर रोज चुपके से निकल आते नये पत्ते
    यादों के दरख्तों में क्यूं पतझङ नहीं होते...


Leave a Reply



Related

Baaton baaton mein

तन्हाई में जीना