Large Jokes

2250
  • Posted on 19/03/2019

    रौशनी मुझ से गुरेज़ाँ

    रौशनी मुझ से गुरेज़ाँ है तो शिकवा भी नहीं
    मेरे ग़म-ख़ाने में कुछ ऐसा अँधेरा भी नहीं



  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 3

  • Posted on 19/03/2019

    तेरे ज़र्फ़ को

    *** Large Jokes ***

    तेरे ज़र्फ़ को पहचान कर दूँगी जवाब।
    तू मेरे क़द के बराबर सवाल तो कर ।।

    ज़र्फ़ - समार्थ्य



  • Posted on 19/03/2019

    एक अलग पहचान

    सुनो एक अलग ही पहचान बनाने की आदत है हमें
    जख्म हो जितना गहरा उतना मुस्कुराने की आदत हैं हमें



  • Posted on 11/03/2019

    शुक्र है रमज़ान आया

    *** Large Jokes ***

    शुक्र है रमज़ान आया, हमारे फ़ाकों पे पर्दा होगा
    कोई पूछे के भूखे हो ?? तो कह देना के रोज़ा है
    — Purnima Saharan



  • Posted on 09/03/2019

    वक्त ही ना रहा

    वक्त ही ना रहा अब हमारे लिये तुम्हारे पास ऐ जान,
    कभी वक्त ही वक्त था चलो वक्त-वक्त की बात है