in

ज़रा धीरे से

ज़रा धीरे से उठा नकाब ,

मैं भी चांद का दीदार करूं।

भर के तुझे अपनी निगाहों में ,

जी भर के प्यार करूं।

What do you think?

129 points
Upvote Downvote

Written by Taureano Ent

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भरोसा ना करना