in

जिसे रिश्तों में

जिसे रिश्तों में न दिखा तो पत्थर में क्या दिखेगा

इबादत की नज़र से देख, ज़र्रे ज़र्रे में ख़ुदा दिखेगा

What do you think?

129 Points
Upvote Downvote

Written by Taureano Ent

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भरोसा ना करना