in

मेरे होने में

मेरे होने में

मेरे होने में किसी तौर से शामिल हो जाअो
तुम मसीहा नहीं होते हो तो कातिल हो जाअो
– Irfan Siddiqui

What do you think?

993 Points
Upvote Downvote

Written by bvbt3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

जिससे प्यार करो

जिससे प्यार करो

अधूरी ख्वाहिशें