in

AngryAngry

तमन्ना शायरी – आरज़ू शायरी – Khwahish Shayari | Unclejokes

अधूरी ख्वाहिशें

ख्वाहिशें कुछ कुछ यूं भी अधूरी रही
पहले उम्र नहीं थी, अब उम्र नहीं रही

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

हज़ारों ख्वाहिशें एसी

हज़ारों ख्वाहिशें एसी कि
हर ख्वाहिश पे दम निकले
बहुत निकले मेरे अरमां
लेकिन फिर भी कम निकले

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

मौसम बहुत सर्द है

मौसम बहुत सर्द है एे दिल,
चलो कुछ ख्वाहिशों को आग लगायें…

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

तुम्हें अपना कहने की

तुम्हें अपना कहने की तमन्ना थी दिल में
लबों तक आते आते तुम ग़ैर हो गए

Share on facebook
Share on twitter
Share on whatsapp
Share on pinterest

What do you think?

926 points
Upvote Downvote

Written by bvbt3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Philosophy Shayari Feature Image

Philosopy Shayari – Beautiful Shayari With Deep Meaning | Unclejokes

सादगी पर शायरी Feature Image

सादगी पर शायरी – Shayari On Saadgi – Sadgi Shayari | Unclejokes