बेटी पर शायरी - बेटी पर कविता - 2 Line Shayari On Beti - Beti Shayari Hindi

17
  • Posted on 27/04/2018

    वो शाख़ है

    वो शाख़ है न फूल अगर तितलियाँ न हो
    वो घर भी कोई घर है जहाँ बच्चियाँ न हो
    - बशीर बद्र



  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 3

  • Posted on 27/04/2018

    कौन कहता है की

    *** बेटी पर शायरी कविता ***

    कौन कहता है की
    दिल दो नही होते
    पति की दहलीज पर बैठी
    पापा की बेटी से पूछो



  • Posted on 27/04/2018

    कीमत तो खूब बड़ गई

    कीमत तो खूब बड़ गई शहरों मे धान की
    बेटी विदा न हो सकी फिर भी किसान की
    - Vikash



  • Posted on 27/04/2018

    कोई बोलता है

    *** बेटी पर शायरी कविता ***

    कोई बोलता है इस्लाम खतरे में है..
    कोई बोलता है मेरे राम खतरे में है ..
    एक बेटी बोली मैं क्या करुँ..
    मेरी तो सुबह शाम खतरे में है...!!



  • Posted on 27/04/2018

    पीतल की बालियों में

    पीतल की बालियों में ब्याह दी बेटी....
    बाप मजदूर था सोने की खान में...!!
    - Supriya