मतलबी लोग शायरी - Matlabi Shayari - मतलबी दोस्त शायरी - मतलबी दुनिया शायरी - Shayari On Matlabi Insan

43
  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    दुनिया में सबको दरारों में से झांक ने की आदत है,
    दरवाजि खुले रख दो, कोई आस पास भी नहीं दिखेगा

  • Username Admin

    See Also :- Top 5 Ayurvedic Herbs For Diabetes (Miracle Herbs)

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** मतलबी लोग शायरी ***

    कोहनी पर टिके हुए लोग,
    टुकङों पर बिके हुए लोग,
    करते हैं बरगद की बातें
    ये गमले में उगे हुए लोग

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    मज़बूत होने में मज़ा ही तब है,
    जब सारी दुनिया कमज़ोर कर देने पर तुली हो..

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** मतलबी लोग शायरी ***

    न जाने कैसी नज़र लगी है ज़माने की
    अब वजह नहीं मिलती मुस्कुराने की

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    मेरी तारीफ करे या मुझे बदनाम करे,
    जिसने जो बात करनी है सर-ए-आम करे
    - Jaun Eliya