रास्ता शायरी - Raasta Shayari In Hindi - Raah Shayari - राह शायरी

20
  • Posted on 03/12/2017
    Username Admin

    मोङ आ जाये तो मुङना पङता है,
    उसे रास्ता बदलना नहीं कहते..

  • Username Admin

    See Also :- Top 7 Ayurvedic Herbs For Liver Detox and Repair

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** रास्ता शायरी ***

    ये उमर, वक्त, रास्ता, गुज़रता रहा
    सफ़र का ही था मैं सफ़र का रहा

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    बिन सफ़र, बिन मंज़िलों का एक रास्ता होना चाहता हूॅ

    कहीं दूर किसी जंगल में, ठहरा दरिया होना चाहता हूॅ

    एक ज़िंदगी होना चाहता हूॅ बिना रिश्तों अौर रिवाज़ों की

    दूर आसमान से गिरते, झसने में कहीं खोना चाहता हूॅ

    मैं आज मैं होना चाहता हूॅ

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** रास्ता शायरी ***

    जुगनुअों को साथ लेकर रात रोशन कीजिये
    रास्ता सूरज का देखा तो सहर हो जाएगी
    - Rahat Indori

  • Posted on 07/03/2018

    निकलता है कुचल कर

    निकलता है कुचल कर, आदमी को आदमी,
    तरक़्क़ी की तमन्ना ने अजब, रास्ता निकाला है ।
    - Mohbsaqib Saqib