लब शायरी - Lab Shayari - होठ शायरी - होंठ शायरी - Hothon Par Shayari - Hoth Shayari - Hoto Ki Tareef Shayari

22
  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    मत छीन मेरे लबों से, अपना नाम इस तरह,
    बे-नाम सी, ज़िन्दगी में..तेेरा नाम ही तो है

  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 3

  • Posted on 08/01/2018

    झुकी निगाह से

    *** लब शायरी ***

    झुकी निगाह से इक़रार करते हैं
    खामोश लबों से इजहार करते हैं
    आँखों में सजाकर ख्वाब तेरे
    अपनी राहों में तुम्हारा इंतजार करते हैं



  • Posted on 14/03/2018

    ठहर सके जो

    ठहर सके जो लबों पे हमारे,
    हँसी के सिवा है मजाल किसकी



  • Posted on 14/03/2018

    हँसी जो तेरी

    *** लब शायरी ***

    हँसी जो तेरी कातिल है इतनी ,
    जायज़ है तेरा यूँ खुदपे इतराना ।
    दिल थाम के बैठो अपना कही ऐसा ना हो ,
    नाम हमारा ठहर जाए इन लबों पे रोजाना



  • Posted on 31/03/2018

    बात लबों पर

    हर बात लबों पर आ कर रुक जाती है
    की जब वो हाँले से मुस्कुराती है,
    दुपट्टे को दाँतों तले दबा कर
    बहुत करीब बहुत करीब से गुजर जाती है।।
    - Shalini Gupta