Barish Shayari in Hindi - बारिश शायरी - Barish Status in Hindi - Rain Shayari - Rain Status - बारिश का मौसम शायरी - Monsoon Shayari - Shayari On Barish

40
  • Posted on 06/06/2018

    किसान और बारिश

    अब भी आसमान पर छाई है ये काली घटाएँ
    चाँद और सूरज भी जा छुपा है इन बादलों के साये।।

    किसान भी थक गए कर भगवान से गुजारिश,
    कब तक थाम जाये ये बीन मौसम का बारिश ।।

    ए-ख़ुदा नुकसान मेरा, दुःखी मैं, फिर भी रोये तू जा रहा है,
    किसान के आंसुओ को इन बारिशो के जरिये चुपाये क्यों जा रहा है।।

    मैं अब तक नहीं समझा,
    कैसी ये बरखा, कैसी ये रैन है,
    ये प्रकृति या फिर इंसानी देन है??

    ~आशुतोष ज. दुबे



  • Username Admin

    See Also :- Top 8 Benefits of Punarnava Boerhavia Diffusa

  • Posted on 07/06/2018

    कोई तो बरसात

    *** barish shayari ***

    कोई तो बरसात ऐसी हो जो तेरे संग बरसे ,
    तन्हा तो मेरी आँखें हर रोज़ बरसती है....
    - Shalini



  • Posted on 07/06/2018

    अब भी बरसात

    अब भी बरसात की रातों में बदन टूटता है..
    जाग उठती हैं अजब ख़्वाहिशें अंगड़ाई की..
    परवीन शाकिर



  • Posted on 07/06/2018

    आँख भर आई

    *** barish shayari ***

    आँख भर आई, किसी से जो मुलाक़ात हुई
    ख़ुश्क मौसम था मगर टूट के बरसात हुई



  • Posted on 07/06/2018

    हम तो समझे थे

    हम तो समझे थे के बरसात में बरसेगी शराब
    आयी बरसात तो बरसात ने दिल तोड़ दिया
    - Nishant