Dushman Shayari - दुश्मनी पर शायरी

11
  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    जगह ही नही दिल में अब दुश्मनों के लिए......
    कब्ज़ा दोस्तों का कुछ ज्यादा ही हो गया है !

  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 2 - Sawal Jawab

  • Posted on 14/11/2017
    Username Admin

    *** dushman shayari दुश्मनी पर शायरी ***

    मैंने हर दोस्त में
    एक दुश्मन छुपा देखा है

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    हम अपने दुश्मन को भी बहुत मासूम सज़ा देते हैं,
    नही उठाते उस पर हाथ बस नज़रों से गिरा देते हैं

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** dushman shayari दुश्मनी पर शायरी ***

    दुश्मनों के साथ मेरे दोस्त भी अज़ाद है
    देखना है खींचता है मुझपे पेहला तीर कौन
    - Parveen Shakir

  • Posted on 16/12/2017

    तेरी रुस्वाई

    तेरी रुस्वाई से मुझे एक सबक मिला है
    दुश्मन भी इतना नहीं करता जितना
    तूने दोस्त बनके किया है।