Mehboob Shayari In Hindi - महबूब शायरी हिंदी में

21
  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    एक महबूब लापरवाह सा, एक मोहब्बत बेपनाह सी
    दोनों काफी हैं.. सुकून बर्बाद करने को

  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 2 - Sawal Jawab

  • Posted on 11/12/2017
    Username Admin

    *** mehboob shayari ***

    लिखने के लिए कौम के दु:ख दर्द बहुत हैं
    अब शेर में महबूब के नखरे नहीं चलते
    - शकील जमाली

  • Posted on 20/02/2018

    दोस्तों के बीच

    दोस्तों के बीच में हम फिर तमाशा बन गये
    अौर हमारे सारे अरमानों का कीमा हो गया
    अपनी महबूबा से मिलवाके उसे पछताये हम
    तीन दिन के बाद लङने का वलीमा हो गया
    - Popular Meeruthi



  • Posted on 27/04/2018

    उर्दू जैसे हैं

    *** mehboob shayari ***

    उर्दू जैसे हैं महबूब मेरे,
    अच्छे तो लगते हैं
    पर समझ में नहीं आते...
    - Reema Sharma



  • Posted on 12/05/2018

    गर नशा इश्क़ का हो

    गर नशा इश्क़ का हो तो शराब का क्या काम
    मंजिल महबूब का घर हो दरगाह का क्या काम
    - Shanaya