Pardesi Shayari In Hindi - परदेसी शायरी हिंदी में

7
  • Posted on 06/02/2019

    ज़िंदगी कम पढ़े

    ज़िंदगी कम पढ़े परदेसी का ख़त है 'इबरत'
    ये किसी तरह पढ़ा जाए न समझा जाए



  • Username Admin

    See Also :- Pati Patni Jokes - Part 1

  • Posted on 06/02/2019

    बागे गुलिस्तां

    *** pardesi shayari ***

    बागे गुलिस्तां में गुलों की दीद क्या ?
    हम तो हैं परदेसी,हमारी ईद क्या ?



  • Posted on 06/02/2019

    अब उनके मिलन

    अब उनके मिलन की आस जगने लगी है,
    बहुत दिन हुएे कोई ख़त नहीं आया .
    - नज़ीर मलिक.



  • Posted on 06/02/2019

    क्यूं हमे लोग

    *** pardesi shayari ***

    क्यूं हमे लोग समझते है परदेसी
    एक मुद्दत से इसी शहर मे आबाद है हम
    काहे का तर्क-ए-वतन काहे की हिज़रत बाबा
    इसी धरती की इसी देश की औलाद है हम



  • Posted on 06/02/2019

    पसदेसी से

    पसदेसी से दिल ना लगाना वो बङे मजबूर होते हैं
    वो बेवफा नहीं पर उसे जाना ज़रूर होता है