Qayamat Shayari - कयामत शायरी - Kayamat Shayari In Hindi

18
  • Posted on 01/02/2018

    एक अजनबी से

    एक अजनबी से बात क्या की कयामत हो गयी हैं,
    सारे शहर को चाहत की खबर हो गयी हैं….
    क्यों ना दोष दूँ दिले नदान को,
    दोस्ती का इरादा था और उनसे मोहब्बत हो गयी हैं..!



  • Username Admin

    See Also :- Papa Teacher Jokes Part 3

  • Posted on 02/09/2018

    वो आँखों से यूँ

    *** qayamat shayari ***

    वो आँखों से यूँ शरारत करते हैं,
    अपनी अदा से भी कयामत करते हैं,

    निगाहें उनकी भी चेहरे से हटती नहीं,
    और वो हमारी नजरों से शिकायत करते हैं।



  • Posted on 26/09/2018

    ना समेट सकोगे

    ना समेट सकोगे कयामत तक जिसे तुम...
    कसम तुम्हारी तुम्हें इतनी मुहब्बत करुँगा मै



  • Posted on 29/09/2018

    जब वो पास होंगे

    *** qayamat shayari ***

    जब वो पास होंगे मेरे तो शायद कयामत होगी...
    अभी तो उनकी तस्वीर ही तबाही मचा रखी है..!!



  • Posted on 28/11/2018

    क़यामत के रोज़

    क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब
    ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, मोहब्बत की है इसने